INVITATIONS (Join Us)

Invitation –JOIN US 

*********

“सतत् विकास के लक्ष्य: आजीविका का अधिकार एवं हमारा असंगठित क्षेत्र”

हरित स्वराज संवाद (सैडेड)

meeting 2

 

प्रिय साथी,

हमारे देश ने दुनिया के अन्य देशों की भांति 25 सितम्बर 2015 में विश्व बिरादरी के बीच ‘सतत् विकास के 17 लक्ष्यों‘ को 2030 तक पूरा करने का वायदा,बेहतर शब्द होगा संकल्प किया है। इस संकल्प को किये 3 बरस होने को आये हैं, लेकिन यह दुर्भाग्यपूर्ण विडम्बना है कि पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था उल्टी दिशा में जा रही है। वालमार्ट ने भारतीय बाज़ार पर कब्जा करने का चोर दरवाजा ढूंढ लिया है, जिससे हमारे छोटे व्यापारी, दुकानदार खुद और उनके स्टाफ का एक बड़ा हिस्सा वालमार्ट का सामान ढोने वाले असंगठित क्षेत्र का हिस्सा बन जायेंगे। वेंडरस् एवं पटरी-खोमचे वाले दुकानदारों पर अच्छी खासी मार पड़ेगी ही।

            1977 के योजना आयोग में अर्थशास्त्री सदस्य प्रो. राजकृष्ण अक्सर कहा करते थे कि गरीबी के विरुद्ध सफल अभियान गरीबों के संगठित नेतृत्व के बल पर ही किया जा सकता है।

            आजकल के बौद्धिक और राजनैतिक विमर्श में खास कर उसके शीर्ष पायदानों पर विराजमान बौद्धिकों और नेताओं में गरीबों के बारे में जानकारी, संवेदना एवं उनकी परिस्थिति को बदलने की चर्चा कम ही सुनने में मिलती है। यदि हमें सतत् विकास के लक्ष्यों की ओर बढ़ना है तो असंगठित क्षेत्र के बारे में व्यापक समाज में समझ का विस्तार, गहराई और संवेदना सभी आवश्यक हैं।

            इसी सिलसिले में शनिवार प्रातः10:30 बजे से अप. 1:30 बजे तक कांफ्रेस रुम नं.-2, इंडिया इस्लामिक सैंटर, लोदी गार्डन के पास – एक परिचर्चा का आयोजन किया है:

सतत् विकास के लक्ष्यआजीविका का अधिकार एवं हमारा असंगठित क्षेत्र

वक्ता:

प्रो. रवि श्रीवास्तव – सेवानिवृत्त, जे.एन.यू.: प्रो. श्रीवास्तव – अर्जुन सेनगुप्ता कमेटी के सदस्य थे एवं नागरिक अधिकार आंदोलन और मज़दूर आंदोलन से उनका गहरा रिश्ता है।

श्री अरविंद सिंह – NASVI के संस्थापक एवं देश, दुनिया के मज़दूर आंदोलन एवं राजनैतिक हलकों में इनके काम को सम्मान से देखा जाता है। इन्हें लोकतांत्रिक समाजवादी संस्कार अपने बड़े भाई स्वर्गीय अरुण सिंह से मिले हैं, जो बिहार के समाजवादी युवा आंदोलन के अगुआ कार्यकत्र्ता थे तथा बाद में ट्रेफिंकिंग तथा सांस्कृतिक प्रश्नों पर भी उन्होंने स्वयंसेवी संस्था के ज़रिये महत्वपूर्ण काम किया था।

श्री अलीमुद्दीन अंसारी – समाजवादी मज़दूर आंदोलन के वरिष्ठ कार्यकर्ता एवं खेत मज़दूर पंचायत, हिंद मज़दूर पंचायत नामक स्वतंत्र मज़दूर फेडरेशन के माध्यम से सक्रिय। बिहार के सीमांचल में इनका व्यापक जनाधार है।

अध्यक्षता :

श्री हरभजन सिंह सिद्धू – अ. भा. महामंत्री हिंद मज़दूर सभा, मजदूर आंदोलन का महत्वपूर्ण नाम हैं।

निवेदक:

डॉ. रितु प्रिया-संयोजक

 रजनीकांत मुद्गल (9213052024) – सह संयोजक

विकास अरोड़ा, विजय लक्ष्मी ढौंडियाल, पवन कुमार, छोट्टन दास, गौरी शंकर, रमेश सिंह (9643670498)

**********

Advertisements